Contact Me

Dr. Yogesh Vyas

Mobile: +91 8696743637
Email: aacharyayogesh@gmail.com

वास्तुशास्त्र और घर-

यदि वास्तुशास्त्र के अनुसार घर बनवाया जाए तो यह दुख, दरिद्रता, बीमारियां आदि से हमें दूर रखता है। बेडरूम यदि वास्तुशास्त्र के अनुसार हो तो घर में शांति और खुशहाली रहती है।

● भूखंड के बीच एक हाथ का बड़ा गड्ढा खोदकर उसमें से निकली मिट्टी को दोबारा भरिए यदि मिट्टी कम पड़ जाए तो उस भूमि पर भवन नहीं बनाना चाहिए।
● वास्तु में मिट्टी का बहुत महत्व है। जो मिट्टी श्वेत, उपजाऊ तथा भीनी-भीनी महक वाली होती है, आवास तथा व्यावसायिक कार्यों के लिए शुभ होती है। निर्माण से पहले भूखंड पर पांच ब्राह्मणों को भोजन करना शुभ माना जाता है ।
● घर के ठीक सामने कोई पेड़,नल या पानी की टंकी नहीं होनी चाहिए। ऐसी चीजों से घर में परेशानियां हो सकती हैं।
● बेसमेंट में निवास स्थान कभी नहीं बनाना चाहिए, इसके उत्तर, पूर्व तथा ईशान कोण क्षेत्र को बोरिंग व जल भंडारण वास्तु के हिसाब से शुभ है।
● घर के पास कांटेदार वृक्ष जैसे बबूल आदि होने से शत्रुभय, दूध वाले वृक्ष जैसे आक, कटैली आदि से धननाश और फलदार वृक्ष संतान के लिए हानिकारक होते हैं।
● तुलसी का पौधा घर के पूर्व/ उत्तर दिशा की ओर ही लगाना चाहिए, दक्षिण दिशा में तुलसी से परेशानियां हो सकती हैं।
● घर में गंदगी, कूड़ा-कबाड़ और बिखरे सामान से घर के सदस्यों को अपने लक्ष्य हासिल करने में परेशानियां हो सकती हैं।
● घर की छत को हमेशा साफ रखें, मकान की छत पर बेकार या टूटे-फूटे समान को न रखें।
● घर के सामने छोटे फूलदार पौधे लगाना शुभ होता है। अग्निकोण में अनार का पेड़ शुभ फल देता है, लेकिन इस दिशा में वट, पीपल, पाकड़ और गूलर पेड़ से परेशानियां हो सकती हैं।
● वास्तु के अनुसार घर को सकारात्मक ऊर्जा और खुशनुमा माहौल देने के लिए भवन की दीवारों पर मनमोहक रंगों का इस्तेमाल ज्यादा करना चाहिए।
● घर के दक्षिण में पाकड़ का वृक्ष, पश्चिम में बड़, उत्तर में गूलर और पूर्व में पीपल पेड़ से परेशानियां हो सकती हैं।
● घर में पूजा स्थल बनाना हो तो वह उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। घर में पूजा स्थल तो होना चाहिए लेकिन शिवालय नहीं, आप चाहें तो शिवजी की मूर्ति अवश्य रख सकते हैं।
● घर के सामने अगर कोई फलदार पेड़ जैसे केला, पपीता या अनार आदि है तो उसे कभी सूखने ना दें, अगर यह सूख रहा है या फल नहीं दे रहा तो घर के जातकों को संतानोत्पत्ति में परेशानियां हो सकती हैं।
● फेंगशुई के अनुसार हंसों का जोड़ा शयनकक्ष में रखने से पति और पत्नी के बीच प्यार और विश्चास में वृद्धि होती है |
● जिससे वैवाहिक जीवन के आनंदमय क्षणों की याद आती रहे, उन्हें नैऋत्य कोण में लगाने से कटुता में कमी आती है।
● पति-पत्नी में लगातार झगड़ा होता है तो उन्हें वास्तु के हिसाब से अपने डबल-बेड पर इकहरा गद्दा बिछाना चाहिए!
● वास्तुशास्त्र के अनुसार बेडरूम में पलंग के ठीक सामने आईना होना अशुभ होता है। इससे गृहस्वामी को अनिद्रा, बेचैनी जैसी परेशानियां हो सकती हैं।
● यदि पढ़ाई करते वक्त बहुत ज़्यादा नींद आती हो, पढ़ाई में मन न लगे, रुकावटें आए तो इसके लिए छात्र को पूर्व की तरफ सिरहाना करके सोना चाहिए।

>